ग्रामीणों को रोकने बिल्डर ने लगाया फेंसिंग में करंट! एसडीएम बोले “बिल्डर ने सरकारी जमीन पर किया कब्जा, जाँच जारी”

“स्वतंत्र बोल”
रायपुर 25 जून 2023.  अभनपुर ब्लॉक के कठिया, नवागांव में वृक्षों की कटाई के बाद उपजा बवाल अभी थमा नहीं है, उधर बिल्डर ने सरकारी जमीन पर कब्ज़ा किया है, राजस्व विभाग की प्रारंभिक जाँच में इसकी पुष्टि हुई है। उधर एसडीएम अभनपुर ने राजस्व निरीक्षक और पटवारियों की छह टीमों को सीमांकन करने लगाया है जो बीते दो दिनों से सीमांकन में जुटे है। करीब 200 एकड़ में फैले क्षेत्र में बड़े झाड़ के जंगल, वृक्षारोपण और घास भूमि और कुछ निजी भूमि है।

चौपाल चर्चा: समरथ को नहीं दोष गुसाई, निर्भय एसडीएम और तिवारी की छुट्टी.. स्वतंत्र बोल का साप्ताहिक कॉलम।

जानकारीनुसार निजी भूमि की आड़ में बिल्डर दावड़ा ने करीब 60 एकड़ से अधिक सरकारी भूमि पर कब्जा किया है। राजस्व अधिकारियो के अनुसार अंतिम रिपोर्ट आने पर आकंड़ा बढ़ भी सकता है। अभनपुर ब्लॉक के दर्जन भर से अधिक गावो में बिल्डर की टुकड़ो में सैकड़ो एकड़ से अधिक जमीने है। ग्रामीणों के आरोपों के अनुसार अधिकांश जमीने ग्रामीणों से बेहद सस्ते दामों पर खरीदी गई, बाकी जमीनी कब्ज़ा कर बढ़ाई गई।

दो साल पहले भी हुई थी जाँच-
बिल्डर की मनमानी से ग्रामीण लंबे समय से परेशान है। दो साल पहले भी अतिक्रमण और दबंगई की शिकायत पर तहसीलदार ने जांच किया था, जिसमे 30 एकड़ से अधिक जमीन कब्जा पाया गया। शासन ने उन जमीनों को कब्ज़ा मुक्त कराया था, बाद में दबंगई दिखाते ;हुए बिल्डर ने उससे ज्यादा भूमि पर कब्ज़ा कर तार से फेंसिंग कर दिया था। शिकायतकर्ताओं के अनुसार अवैध कब्ज़ा में माहिर में बिल्डर ने ग्रामीणों के आने जाने पर पाबन्दी लगाने फेंसिंग में करेंट भी लगाया था। बताते है कि बिल्डर ने गांव की सरकारी जमीं से मुरम खोदने सरपंच से अनापत्ति लिया था, बाद में उस भी विवाद हुआ था।
एक भी इमारती लकड़ी नहीं- एसडीएम

डेढ़ सौ एकड़ के जंगल की कटाई महीने भर से जारी रही। जंगल महकमे के कर्मियों को कथित तौर पर जानकारी नहीं हुई और पूरा पेड़ कटकर गायब हो गया। विधायक की शिकायत पर पहुंचे फारेस्ट अमला को मात्रा 1700 पेड़ मिले, जिसमे संयोग ऐसा कि एक भी इमारती लकड़ी नहीं है। फारेस्ट टीम ने दो ट्रेक्टर को पकड़ा, जो हरियाणा के है। अभनपुर के एसडीएम जगन्नाथ वर्मा ने स्वतंत्र बोल से कहा कि
“पटवारी और राजस्व निरीक्षकों की टीम के साथ जाँच जारी है, प्रथम दृष्टया अवैध कब्ज़ा मिला है। जब्त किये गए पेड़ो में एक भी इमारती लकड़ी नहीं मिली, पूरी जाँच के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।”

बिल्डर की दबंगई: डेढ़ सौ एकड़ में फैले जंगल को काट डाला, पेड़ो की हुई तस्करी.. जिम्मेदार अंजान, लीपापोती में जुटे अधिकारी!

error: Content is protected !!