NEET Paper Leak पर केंद्र की हाई लेवल कमेटी ने छात्रों-अभिभावकों से मांगा सुझाव

NEET Paper Leak पर केंद्र की हाई लेवल कमेटी ने छात्रों-अभिभावकों से मांगा सुझाव

स्वतंत्र बोल
BIHAR 28 जून 2024:
 NEET Paper Leak मामला सरकार के लिए परेशानी का सबब बन गया है। इसे लेकर पूरे दूेश में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इससे सरकार बैक फुट पर है। इस बीच नीट पेपर लीक के मुद्दे पर केंद्र की हाई लेवल कमेटी ने छात्रों और अभिभावकों से सुझाव मांगे हैं। कमेटी ने इनसे परीक्षा में सुधार और NTA को लेकर सुझाव मांगे हैं। नीट मामले में केंद्र ने सात सदस्यीय कमेटी बनाई थी।

इधऱ NEET पेपर लीक में चिंटू और मुकेश कुमार से CBI की पूछताछ जारी है। शुक्रवार को टीम दोनों को पटना के अलग-अलग ठिकानों पर लेकर पहुंची है। एजेंसी पेपर लीक को लेकर साक्ष्य पुख्ता कर रही है। साथ ही झारखंड के हजारीबाग (Hazaribagh) के ओएसिस स्कूल (Oasis School) के प्रिंसिपल एहसान उल हक से तीसरे दिन भी पूछताछ जारी है। चरही गेस्ट गेस्ट हाउस में प्रिंसिपल से पूछताछ हो रही है।

इससे पहले नीट पेपर लीक में FIR दर्ज करने के बाद CBI ने गुरुवार को पहली बड़ी कार्रवाई करते हुए पटना (Patna) से 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लोगों के नाम मनीष प्रकाश और आशुतोष है। मनीष प्रकाश छात्रों को अपनी गाड़ी में लाने और ले जाने का काम करता था, जबकि आशुतोष के घर मे छात्रों को ठहराया जाता था। दोनों को कोर्ट में पेश किया गया है। दोनों ने ही पटना के प्ले एंड लर्न स्कूल को रात भर के लिए बुक कराया था। इसी स्कूल में 20 से 25 कैंडिडेट्स को इकट्ठा करके आंसर रटवाया गया। यहीं जली बुकलेट के टुकड़े मिले थे।

CBI की टीम गुरुवार को दोपहर 1 बजे पटना की बेऊर जेल पहुंची। यहां आरोपी बलदेव कुमार उर्फ चिंटू और मुकेश कुमार का मेडिकल कराया और उन्हें 8 दिन की रिमांड पर लिया। बताया जा रहा है कि टीम दोनों को अलग-अलग लोकेशन पर ले जाकर पूछताछ करेगी। CBI ने 26 जून को चिंटू और मुकेश को कोर्ट में पेश किया था। इसके बाद दोनों की 8 दिन की रिमांड मिली थी। चिंटू NEET पेपर लीक के मास्टरमाइंड संजीव मुखिया का रिश्तेदार है। दावा है कि चिंटू के मोबाइल पर ही पेपर आया था, जबकि मुकेश गाड़ी से कैंडिडेट्स को उस स्कूल में ले गया था, जहां सवालों के जवाब रटवाए गए थे।

अब तक 5 राज्यों में 27 से ज्यादा गिरफ्तारियां

बता दें कि केंद्रीय जांच एजेंसी पिछले दो दिन से 11 लोगों से पूछताछ कर रही है। CBI ने बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (EOU) से 26 जून को यह केस अपने हाथ में लिया था। अब तक 5 राज्यों में पुलिस ने 27 से ज्यादा गिरफ्तारियां की हैं। इधर CBI की टीम झारखंड में हजारीबाग के ओएसिस स्कूल के प्रिंसिपल एहसान उल हक को एक बार फिर स्कूल लेकर गई। मड़ई रोड स्थित स्कूल में 2 घंटे पूछताछ के बाद टीम प्रिंसिपल को लेकर वापस चरही स्थित सीसीएल गेस्ट हाउस पहुंची।

सुप्रीम कोर्ट में 8 जुलाई को सुनवाई
नीट पेपर लीक कांड की जांच अब सीबीआई दिल्ली की टीम कर रही है। सीबीआई ने दिल्ली में ही केस दर्ज किया है। इधर पटना में आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने सीबीआई को जांच रिपोर्ट, केस डायरी और साक्ष्य सौंप दिए हैं। पुलिस मुख्यालय के सूत्रों की माने तो जांच रिपोर्ट स्पष्ट कहती है कि नीट यूजी का प्रश्न पत्र लीक हुआ है। 8 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में नीट प्रश्न पत्र लीक मामले में दायर याचिका में सुनवाई होनी है। 8 जुलाई को ईओयू के अधिकारी भी इस सुनवाई में मौजूद रहेंगे, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने ईओयू को 8 जुलाई को हाजिर रहने के लिए नोटिस जारी किया है।झारखंड: पांच महीने बाद रांची जेल से रिहा हुए हेमंत सोरेन, जमीन घोटाले में HC से मिली थी जमानत

 

error: Content is protected !!