मुआवजा वितरण में गड़बड़ी पर बोले SDM: “तहसीलदार और पटवारी के रिपोर्ट के आधार पर जारी हुआ मुआवजा, अगर गलत तो वे जिम्मेदार” ,

“स्वतंत्र बोल”
रायपुर 16 जुलाई 2023.  भारत माला प्रोजेक्ट में मुआवजा वितरण में गड़बड़ी के आरोपों से घिरे राजस्व अधिकारी अब बचने की जुगत में लग गए है। तत्कालीन अनुविभागीय अधिकारी निर्भय साहू ने स्वतंत्र बोल से कहा कि
“पटवारी और तहसीलदार के बनाये रिपोर्ट के आधार पर ही भुगतान किया है, अवार्ड पारित होने के बाद नाम बदलने पर पटवारी और तहसीलदार से स्पष्टीकरण भी मांगा गया था, अब जो गलती किये, वो जाने।”
अभनपुर क्षेत्र में भारत माला प्रोजेक्ट में मुआवजा वितरण में करोडो की खबर सार्वजनिक होने के बाद विभागीय अफसरों में हड़कंप की स्थिति है। अधिकारी स्वयं को बचाने दुसरो पर दोषारोपण करने लगे है। अभनपुर के उरला के प्रभावित नरेंद्र पारख की भूमि को अधिग्रहित कर ह्रदय लाल धृतलहरे नामक व्यक्ति को 1 करोड़ 36 लाख रुपये का मुआवजा दे दिया गया, जबकि रिकॉर्ड में खसरा नंबर पारख और उसके फर्म के नाम पर रजिस्टर्ड है।

EXCLUSIVE मुआवजा वितरण में करोडो का खेला: जाँच के दायरे में एसडीएम, तहसीलदार और राजस्व अफसर, केंद्र सरकार की योजना में बंदरबांट!

जानकारीनुसार भूमि का मुआवजा पारख के नाम पर अवार्ड पारित हुआ, बाद में मुआवजा जारी होने के दौरान पटवारी तहसीलदार ने पारख का नाम हटाकर गाँव के ही हृदयलाल का नाम जोड़ दिया और एसडीएम ने उसे मुआवजा राशि भी जारी कर दिया।
सैकड़ो किसानो के साथ धोखा-
मुआवजा के नाम पर अभनपुर ब्लॉक के सैकड़ो किसानो के साथ धोखा हुआ है। अफसरों ने जमीन किसानो से लेकर मुआवजा दुसरो को बाँट दिया, प्रभावित भू स्वामी अब एसडीएम कार्यालय के चक्कर लगा रहे है। उधर पारख का आरोप था कि जमीन का सीमांकन रिपोर्ट भी आरआई महीनो दबाये रखा।
मुआवजा से वंचित और अधिकारियो की लापरवाही और मनमानी से त्रस्त भूस्वामी पारख ने अपनी भूमि का सीमांकन कराया तो उसकी रिपोर्ट महीने भर तक आरआई रोशन वर्मा दबाये रखा। दरअसल एसडीएम निर्भय साहू के दबाव में निचले तबके कर्मियों ने रिपोर्ट जमा नहीं कर रहे थे, एसडीएम के तबादले के बाद आरआई और पटवारी ने रिपोर्ट जमा किया। जिसमे गड़बड़ी की पुष्टि हुई है। उधर अफसरों का एक समूह यह दिखाने में जुट गया कि पारख के साथ हृदय लाल का जमीन भी अधिग्रहित किया गया था। एसडीएम ने नियमानुसार मुआवजा जारी किया है। तत्कालीन एसडीएम निर्भय साहू वर्तमान में बलौदाबाजार जिले अंतर्गत सिमगा अनुविभाग में पदस्थ है।

एसडीएम जगन्नाथ वर्मा ने कहा कि

“मुआवजा और जमीन संबंधी शिकायते लेकर प्रतिदिन अनेको लोग सामने आ रहे है, नियमानुसार उनका समाधान कर रहे है।”

पुलिस को दिए आवेदन को वापस लिया और नहीं कराया एफआईआर, अवैध गोदनामा पर लीपापोती में जुटे अधिकारी.. मंत्री बोली-

error: Content is protected !!