नई सरकार गठन के पूर्व आनन फानन में भर्ती प्रक्रिया, कार्य परिषद् सदस्यों ने किया इंकार.. विश्वविद्यालय में हंगामा।

स्वतंत्र बोल
बिलासपुर 08 दिसंबर 2023. पंडित सुंदरलाल शर्मा ओपन विश्वविद्यालय के कुलपति अपनों को उपकृत करने में जुटे हुए है। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद नई सरकार का गठन की कवायद चल रही है, उधर कुलपति अपने कृत्यों को छिपाने में लगे हुए है। करीब सात महीने से रुके हुए भर्ती प्रक्रिया को आनन फानन में निपटाने में विश्वविद्यालय प्रबंधन जुटा हुआ है। विश्वविद्यालय प्रबंधन ने करीब दस महीने पहले प्रोग्रामर, सहायक क्षेत्रीय निदेशक, सिस्टम एनालिस्ट, जनसंपर्क अधिकारी, छात्र कल्याण अधिकारी और सहायक छात्र कल्याण अधिकारी के कुल 8 पदों के लिए विज्ञापन जारी किया था।  विज्ञापन के साथ ही उन पदों में चयनित होने वाले अभ्यर्थीयो का नाम भी फाइनल हो चुका था, जिनमे सभी पूर्व के कांग्रेस सरकार के मंत्रियो और अधिकारियो के बेहद करीबी लोग थे। स्वतंत्र बोल ने इसे प्रमुखता से उठाया तो कुलपति का स्वास्थ्य ख़राब हुआ और छुट्टी पर चले गए थे। अब उन्ही पदों को कुलपति बेहद गोपनीय तरीके से भरने में जुटे हुए है। इसके लिए विश्वविद्यालय प्रबंधन ने 6,7 और 8 दिसंबर को इंटरव्यू का आयोजन का सभी अभ्यर्थियों को पत्र भेज बुला लिया था। आज कार्य परिषद् की बैठक में चयनित उम्मीदवारों के नामो का लिफाफा खोला जाता उससे पहले हंगामा हो गया। गुपचुप तरीके से की जा रही भर्ती की जानकारी होने पर आज खूब हंगामा हुआ और अंततः कार्य परिषद् के सदस्यों ने लिफाफा खोलने से इंकार कर दिया।

छत्तीसगढ़ में बीजेपी की सरकार में वापसी, आरएसएस नेताओ का दावा

विश्वविद्यालय में भर्ती प्रकिया में सुनियोजित तरीके से गड़बड़ी की जा रही है। पूर्व सरकार के मंत्रियो और मंत्रालय में पदस्थ के एक सीनियर आईएएस अफसर के करीबी को यहाँ पिछले दरवाजे से भर्ती करने विश्वविद्यालय प्रबंधन जुटा हुआ है। ना जाने ऐसी कौन सी मज़बूरी है कि कुलपति आनन फानन में भर्ती पूरी करना चाह रहे है। उधर कुलसचिव डॉ. इंदु अनंत छुट्टी पर है। विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार चयनित होने वाले अभ्यर्थियों को विश्वविद्यालय प्रबंधन ने विश्वविद्यालय के गेस्ट हाउस में जगह दिया हुआ है।
सोशल मीडिया में वायरल सूची-
विश्वविद्यालय द्वारा 8 पदों में की जा रही भर्ती प्रकिया अभी पूरी नहीं हुई है, पर उनमे चयनित होने वाले अभ्यर्थियों की सूची मई में सोशल मीडिया में वायरल हो गया था। जिसमे गोमेद पाठक, पंकज गुप्ता, शांतनु पटेल, दीपक पांडेय, नीलिमा तिवारी और अजय पांडेय शामिल था। इस पूरी प्रक्रिया में मंत्रालय में पदस्थ ओएसडी राजलक्ष्मी सेलट का नाम सामने आया है, कुछ लोगो ने राजलक्ष्मी की शिकायत भी उच्चाधिकारियों से की है।

 

विश्वविद्यालय भर्ती मामला: मंत्रियो और अधिकारियो के परिचितों को उपकृत करने की कोशिश, डेमेज कंट्रोल में जुटा विश्वविद्यालय प्रबंधन!

error: Content is protected !!