बरसात में बीमारियों का कहर, मलेरिया से एक की मौत

बिलासपुर 05 अगस्त 2023: छत्तीसगढ़ में इन दिनों मूसलाधार बारिश का दौर लगातार जारी है। भारी बारिश के चलते प्रदेश के कई शहरों में जलभराव की स्थिति देखने को मिल रही है। वहीं बारिश के बाद अब डेंगू मलेरिया का कहर शुरू हो गया है। इसके साथ ही मौसमी बीमारियों से भी लोग हलाकान हैं। प्रदेश की न्यायधानी में जहां एक ओर मलेरिया के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है तो वहीं दूसरी ओर भिलाई में डेंगू कहर बरपा रहा है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर आ गया है और डोर टू डोर सर्वे कर मरीजों की पहचान की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर में मलेरिया के चलते एक युवक की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि युवक की उम्र महज 18 साल थी। वहीं शहर में मलेरिया के चार और मरीज मिले हैं, जिसके बाद प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम कोटा के कुरदा सहित अन्य इलाके में डोर टू डोर सर्वे कर रही है और मरीजों की पहचान कर रही है। साथ ही जरूरी दवाएं और हिदायत के निर्देश दिए जा रहे हैं।

मलेरिया से बचाव के तरीके
1) कपड़ों का चुनाव करते समय उन कपड़ों को पहने जो आपके हाथ और पैर को पूरी तरह से कवर करें।
2) बच्चे को झूले में पार्क ले जा रहे हैं तो उन्हें नेट में कवर करें। ताकी मच्छरों से बचा जा सके।
3) मॉस्किटो रिपेलेंट क्रीम और बैंड का इस्तेमाल करें। जब आप बगीचे में बैठें हों या बाहर खेल रहे हों तब भी यह आपको सुरक्षित रखने में मदद करेगा।
4) अपने घर की खिड़कियों को अच्छी तरह से ढक कर रखें और उन्हें बंद रखें। अगर आप चाहते हैं कि ताजी हवा घर में आए तो उन्हें जाल से ढक दें ताकि मच्छर आपके घर में न आ सकें।
5) कूलरों, छोटे-छोटे गड्ढों, या बाल्टी में पानी जमा न रखें। यहां मच्छर पनपने के चांस होते हैं। अपने आसपास पानी जमा होने पर तुरंत सफाई करें।
6) खुद को हाइड्रेटेड रखें। सही मात्रा में पानी पीना बेहद जरूरी है। आप नारियल पानी और जूस को डायट में शामिल करें।

मलेरिया पीड़ित दो स्कूली बच्चों की मौत से मचा हड़कंप

error: Content is protected !!