राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 13 फरवरी को जाएँगी बनारस, होगा भव्य स्वागत

वाराणसी 07 फरवरी 2023: राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू का 13 फरवरी को प्रथम वाराणसी आगमन हो रहा है। वह करीब पांच घंटे के प्रवास पर बाबा काशी विश्वनाथ की नगरी वाराणसी में रहेंगी. इस दौरान वे बाबा विश्वनाथ और काल भैरव का दर्शन-पूजन करेंगी। दशाश्वमेध घाट स्थित गंगा आरती देखेंगी। देर शाम विशेष विमान से नई दिल्ली लौट जाएंगी।

राष्ट्रपति के आगमन के मद्देनजर प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। पुलिस आयुक्त मुथा अशोक जैन और जिलाधिकारी एस. राजलिंगम ने रविवार शाम पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की। दोनों अधिकारियों ने मातहतों से कहा कि यातायात व्यवस्था की कार्ययोजना ऐसी बनाई जाए कि जिसके चलते आमजन को परेशानी न हो। राष्ट्रपति के आवागमन से संबंधित रूट पर अभियान चला कर अतिक्रमण हटाया जाए। साथ ही, सड़क और मार्ग प्रकाश की व्यवस्था को भी समय रहते दुरुस्त कर लिया जाए।

तैयारियों में ना हो लापरवाही

पुलिस अधिकारियों को कहा गया है कि राष्ट्रपति के आगमन के दौरान बाबतपुर एयरपोर्ट से लेकर उनके भ्रमण से संबंधित सभी मार्गों और स्थानों पर सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था रहे। नगर निगम, बिजली विभाग, लोक निर्माण विभाग, वीडीए और पुलिस आपस में समन्वय बनाकर ऐसे काम करें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र से राष्ट्रपति विशिष्ट अनुभव लेकर वापस लौटें।

लखनऊ से बनारस आएंगी राष्ट्रपति

पुलिस और प्रशासन के आला अफसरों के अनुसार राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 13 फरवरी की दोपहर लखनऊ से वाराणसी आएंगी। यहां वह बाबा कालभैरव मंदिर और श्री काशी विश्वनाथ धाम में दर्शन-पूजन करेंगी। इसके बाद दशाश्वमेध घाट पर गंगा आरती में शामिल होंगी। गंगा आरती में शामिल होने के बाद वो वायु सेना के विशेष विमान से वापस दिल्ली लौट जाएंगी।

छत्तीसगढ़ के अफसरों को पुलिस सेवा मेडल की घोषणा:एडीजी विवेकानंद को राष्ट्रपति पदक मिलेगा

error: Content is protected !!