EXCLUSIVE हार्टिकल्चर यूनिवर्सिटी का अधिसूचना जारी: सांकरा में 90 एकड़ में खुलेगा विश्वविद्यालय, चौदह कॉलेज शामिल।

रायपुर 03 फरवरी 2023.  प्रदेश का महात्मा गांधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय अब अस्तित्व में आ जायेगा। राज्य शासन ने कुछ दिनों पहले इसका अधिसूचना जारी किया हैं जिसके बाद जल्द ही विश्वविद्यालय जमीं पर दिखेगा। दिसंबर 2021 में बने महात्मा गांधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय सांकरा पाटन अस्तित्व में आया था। राज्यपाल ने विश्वविद्यालय का पहला कुलपति नोयडा निवासी डॉ राम शंकर कुरील को बनाया था, पर राज्य शासन द्वारा अधिसूचना जारी नहीं होने से विश्वविद्यालय अस्तित्व में नहीं आया था। अधिसूचना जारी होने के साथ ही विश्वविद्यालय अंतर्गत 14 कॉलेजों को शामिल किया गया है, जो पूर्व में इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय में शामिल थे।

अधिसूचना जारी होने में लगे डेढ़ साल-
प्रदेश में उद्यानिकी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से साल 2021 में महात्मा गांधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय को दुर्ग जिले के पाटन तहसील अंतर्गत सांकरा में खोला गया। वहां विश्वविद्यालय के नए भवन का काम तेजी से जारी है। शासन के करीब 90 एकड़ जमीन आबंटित किया है। नए विश्वविद्यालय बनने और उसके अधिसूचना जारी होने में डेढ़ वर्षो से अधिक का समय लगा जिसके चलते अभी तक तक अस्तित्व में नहीं आया था। इसके पीछे कुलपति चयन में सरकार और राज्यपाल के बीच हुए मतभेद को बताया जाता है।
डेढ़ वर्षो की तपस्या सफल-
लंबे समय से अधिसूचना के लिए प्रयासरत रहे डॉ कुरील को अब सफलता मिली है। इस विश्वविद्यालय के प्रथम कुलपति चुने गए नोयडा निवासी डॉ राम शंकर कुरील विगत डेढ़ वर्षो से इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय के गेस्ट हाउस में एक कमरा नंबर तीन में गुजर बसर कर रहे थे, तो विश्वविद्यालय एक अन्य कमरे में संचालित हो रहा था।

 

छत्तीसगढ़िया कुलपति का कमाल: गड़बड़ी और फर्जीवाड़े के आरोपित पूर्व कुलपति को वीआरएस, जाँच पड़ताल से मिली मुक्ति।

error: Content is protected !!