बम्लेश्वरी मां के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं का तांता:चैत्र नवरात्र पर देशभर से पहुंचने लगे भक्त

डोंगरगढ 22 मार्च 2023: राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ स्थित विश्वप्रसिद्ध मां बम्लेश्वरी मंदिर में श्रद्धालुओं का तांता बुधवार तड़के से ही लगा हुआ है। 22 मार्च से चैत्र नवरात्र की शुरुआत हो गई है, जो 30 मार्च तक चलेगी। इस दौरान करीब 15 लाख श्रद्धालुओं के डोंगरगढ़ आने का अनुमान है।

नवरात्रि में मां बम्लेश्वरी मंदिर को भव्य तरीके से सजाया गया है। माता के दर्शन करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं और पदयात्रियों के लिए पुलिस-प्रशासन ने पूरी तैयारी कर रखी है। यहां 1000 से ज्यादा पुलिस जवान तैनात किए गए हैं। इस वर्ष ऊपर स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर और नीचे स्थित छोटी मां बम्लेश्वरी मंदिर में श्रद्धालुओं के द्वारा मनोकामना ज्योत कलश भी बड़ी संख्या में जलाई जा रही है।

इस साल चैत्र नवरात्रि में यहां मेले का भी आयोजन किया गया है, जिसमें छत्तीसगढ़ के अलावा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों से भी श्रद्धालु आएंगे। जिला प्रशासन और मंदिर समिति द्वारा मंदिर में पहुंचने वाले भक्तों के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। यहां बैठक और पार्किंग के लिए भी मंदिर समिति ने इंतजाम किए हैं, वहीं पदयात्रियों के लिए जगह-जगह सेवा पंडाल भी लगाए गए हैं।

मां बम्लेश्वरी मंदिर ट्रस्ट समिति के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल ने बताया कि यहां हर साल की तरह मनोकामना ज्योति कलश प्रज्वलित की गई है। इस वर्ष चैत्र नवरात्रि में ऊपर मंदिर में 6500 और नीचे मंदिर में लगभग 800 मनोकामना ज्योत प्रज्वलित किए जा रहे हैं। इसके लिए मंदिर ट्रस्ट ने पूरी तैयारी कर रखी है।

राजनांदगांव के एडिशनल एसपी लखन पटले ने कहा कि इस वर्ष नवरात्रि में आने वाले भक्तों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है। डोंगरगढ़ आने वाले पदयात्रियों के साथ बाकी लोगों के लिए रास्ते को वन वे किया गया है। मंदिर के अलावा मेला स्थल पर भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

3 किलो सोने से सजा मां बम्लेश्वरी का गर्भगृह

डोंगरगढ़ स्थित मां बम्लेश्वरी मंदिर के गर्भ गृह को सोने से सजाया गया है, जिसके दर्शन श्रद्धालु कर सकेंगे। मां बम्लेश्वरी के गर्भ गृह में लगभग 3 किलो सोने से राजस्थानी नक्काशी की गई है। गर्भ गृह की सजावट मंदिर ट्रस्ट समिति ने करवाई है। गर्भगृह की दीवारों को दान से मिले लगभग 3 किलोग्राम सोने से सजाया गया है। इसके लिए राजस्थान से कारीगर बुलाए गए थे।

विश्व प्रसिद्ध मां बम्लेश्वरी मंदिर डोंगरगढ़ में स्थित है। यहां मां बम्लेश्वरी बगलामुखी के रूप में विराजित हैं। 1600 फीट ऊपर पहाड़ों पर स्थित मां बम्लेश्वरी के दर्शन के लिए 1100 से भी अधिक सीढ़ियां चढ़कर भक्त यहां पहुंचते हैं। यहां ऊंचाई पर स्थित मंदिर तक जाने के लिए रोपवे की भी व्यवस्था है। नवरात्र के 9 दिनों में लगभग 15 लाख से भी अधिक श्रद्धालु माता के दर्शन करने डोंगरगढ़ पहुंचते हैं।

चैत्र नवरात्रि में डोंगरगढ़ स्टेशन में रुकेंगी 8 एक्सप्रेस ट्रेनें

चैत्र नवरात्रि में दर्शनार्थियों की सुविधा को देखते हुए रेलवे ने डोंगरगढ़ में 8 एक्सप्रेस ट्रेनों का अस्थायी स्टॉपेज दिया है। ये ट्रेनें दो मिनट के लिए डोंगरगढ़ स्टेशन में रुकेंगी। इससे लंबी दूरी तय कर पहुंचने वाले दर्शनार्थियों की सुविधा में इजाफा होगा। इसके अलावा गोंदिया-दुर्ग-गोंदिया मेमू का विस्तार रायपुर तक किया गया है। नवरात्रि के दौरान गोंदिया मेमू रायपुर तक चलेगी। चैत्र नवरात्रि (22 मार्च) से ही एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज लागू हो जाएगा।

ये ट्रेनें डोंगरगढ़ में रुकेंगी

12812 हटिया-कुर्ला एक्सप्रेस 20.25 को पहुंचेगी 20.27 को छूटेगी। इसके अलावा 12811 कुर्ला- हटिया एक्सप्रेस 16.33 को पहुंचकर 16.35 को छूटेगी। 20813 पुरी-जोधपुर एक्सप्रेस 07.27 को पहुंच 07.29 को छूटेगी। 20814 जोधपुर-पुरी एक्सप्रेस 17.38 से 17.40, 12851 बिलासपुर – चेन्नई एक्स. 12.21 से 12.23, 12852 चेन्नई-बिलासपुर एक्स्. 10.53 से 10.55, 12146 पुरी-कुर्ला एक्सप्रेस 14.28 से 14.30, 12145 कुर्ला-पुरी एक्सप्रेस 13.13 को पहुंचकर 13.15 को छूटेगी।

नवरात्रि पर जगमगाया मां का दरबार:महामाया मंदिर में 25 हजार मनोकामना ज्योत प्रज्वलित

error: Content is protected !!