मंत्रिमंडल में इन्हे मिलेगा स्थान: ईश्वर साहू के नाम की चर्चा तो राजधानी में पावर बैलेंस की कवायद।

स्वतंत्र बोल
रायपुर 11 दिसंबर 2023.  प्रदेश में नए मुख्यमंत्री के घोषणा के साथ ही मंत्रिमंडल की चर्चाये तेज हो गई है। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के कैबिनेट में नए और पुराने चेहरो तालमेल दिखेगा। पुष्ट जानकारिनुसार 12 मंत्रियो में छह पुराने और छह नए चेहरों को मौका मिलेगा। कैबिनेट विस्तार में जातिगत समीकरण और भौगोलिक परिस्थितियों का ध्यान भी रखा जायेगा। विश्वस्त जानकारीनुसार रायपुर संभाग से बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत और अजय चंद्राकर में किसी को दो मंत्री मंडल में जगह मिलेगा, तो बिलासपुर संभाग से अरुण साव, ओपी चौधरी के साथ धरमलाल कौशिक या अमर अग्रवाल मंत्री हो सकते है। सरगुजा संभाग में सीनियर विधायक रामविचार नेताम को जगह दी जा सकती है तो बस्तर संभाग से केदार कश्यप और विक्रम उसेंडी है। दुर्ग संभाग से हिंदुत्व का नया उभरता चेहरा विजय शर्मा और पूर्व मंत्री दयालदास बघेल का नाम प्रमुख है। रेणुका सिंह और लता उसेंडी भी मंत्री मंडल में शामिल हो सकते है। साजा में दिग्गज मंत्री को हराने वाले ईश्वर साहू को लेकर भी अपुष्ट चर्चाये है, इसके अलावा कुछ नए विधायक भी मंत्री बनने प्रयासरत है।
अनुसूचित जाति वर्ग से नवागढ़ विधायक दयालदास बघेल, आरंग से खुशवंत गुरु, डोमनलाल कोर्सेवाड़ा और पुन्नूलाल मोहले विधायक। इनमे दयालदास बघेल को कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है, हालाँकि सतनामी समाज के धर्म गुरु बालकदास अपने बेटे खुशवंत गुरु को कैबिनेट में शामिल करने प्रयासरत है। गुरु बालकदास चुनाव के तीन महीने पहले ही कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए थे, तो उनके बेटे गुरु खुशवंत गुरु पहली बार चुनाव जीते है। उधर दयालदास बघेल का पलड़ा अनुभव और वरिष्ठता के मामले में भारी है। वे सतनामी समाज के बड़े चेहरे के रूप जाने जाते है और पूर्व की बीजेपी सरकार में तीन बार मंत्री रहे ।

मंत्रियो का हाल: साजा में राजा और मजदूर की लड़ाई तो, पीएचई मंत्री को कार्यकर्ताओ की कमी.. हॉट सीटों में दिलचस्प मुकाबला

error: Content is protected !!