फर्जी ED अधिकारी बनकर करोड़ों रुपये की ठगी, पुलिस ने 7 आरोपियों को किया गिरफ्तार

दुर्ग 03 जुलाई 2023: जिले में फर्जी ईडी (ED) अधिकारी बनकर करोड़ों रुपये की ठगी की घटना को अंजाम देने वालों पर पुलिस ने शिकंजा कसा है. ठगी करने वाले 7 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों को दुर्ग पुलिस मुंबई से ट्रांजिट रिमांड पर छत्तीसगढ़ ला रही है। बीते मंगलवार को दुर्ग के राइस मिलर विनीत गुप्ता के ऑफिस में आरोपियों ने फर्जी ईडी के अधिकारी बनकर कार्रवाई का डर दिखाकर ठगी की थी। इस मामले की निगरानी दुर्ग एसपी स्वयं कर रहे थे। यह मामला मोहन नगर थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के अनुसार, दुर्ग के पारख कॉमप्लेक्स में अनाज व्यापारी हरी नगर दुर्ग निवासी विनीत गुप्ता का ऑफिस है। व्यापारी की शिकायत के अनुसार यहां पांच अज्ञात व्यक्ति चार पहिया वाहन में पहुचे थे। सभी ने स्वयं को ईडी का अधिकारी बताकर काला धन रखने और इनकम टैक्स में चोरी करने की बात करते हुए अनाज व्यापारी को धमकाया। पीड़ित का जेवरा सिरसा में हनुमंत राइस मिल है। पीड़ित का अनाज का बड़ा व्यापारी है। एक प्रोपर्टी की बड़ी डील के लिए पीड़ित ने लिए 2 करोड़ रुपए अपने ऑफिस में चार बैग में रखे थे। लेकिन उससे पहले पांच लोग उनके कार्यालय पहुंचे और अपना फर्जी आई कार्ड दिखाया. आरोपियों ने ऑफिस की तलाशी ली. जिसमें उन्हें चार बैग में पैसे मिले। उनकी धमकी से घबराकर ईडी की कार्रवाई से बचने के लिए पीड़ित व्यापारी ने घबराकर फर्जी अधिकारियों को रुपये भी दे दिए।

फर्जी ईडी के अधिकारी बनकर पहुंचने वाले पांच लोग काले रंग की स्कार्पियों में अनाज व्यापारी के ऑफिस में पहुंचे थे। सभी लोग एक साथ ऑफिस में घुसते ही अपना अपना आईडी कार्ड दिखाना शुरु कर दिया. इस घटना के बाद व्यापारी को एहसास हुआ कि वह ठगी का शिकार हो गया है। जिसके बाद उसने मोहन नगर थाना पुलिस में इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसके बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस पतासाजी में जुट गई और सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अरोपियों के पास से लगभग एक करोड़ रुपये नगदी बरामद किया गया है। जल्द ही दुर्ग पुलिस पूरे मामले का खुलासा करेगी।

बीजेपी नेता ने किया जमीन घोटाला: 100 एकड़ सरकारी जमीन को बीजेपी नेता ने हड़पा, फर्जी तरीके से लिया वनाधिकार पट्टा…कांग्रेस विधायक का गंभीर आरोप।

error: Content is protected !!