CRIME BREAKING: में रेप के बाद बच्ची की हत्या : पड़ोसी ही निकला हत्यारा, झाड़ियों में फेंकी थी लाश

रायपुर 15 दिसंबर 2022 : राजधानी के सड्‌डू में आठ साल की मासूम की हत्या के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस वारदात को नाबालिग ने अंजाम देकर लाश को झाडियों में फेंक दिया था। अपचारी बालक व मृत बालिका एक ही काॅलोनी में रहते थे। संबंध बनाने से मना करने पर अपचारी ने बच्ची के साथ दुष्कर्म कर हत्या की घटना को अंजाम दिया था। अपचारी बालक ने पूछताछ में बताया कि वह अपनी भाभी व चाचा के मोबाइल में पोर्नोग्राफी वीडियो देखा करता था।

8 वर्षीय नाबालिग पुत्री


घटना के 5 दिन बाद हाउसिंग बोर्ड काॅलोनी स्थित विवेकानंद पार्क के पास झाड़ियों में मृत बालिका का शव मिला था. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए एक विशेष टीम का गठन किया था। टीम गठन के बाद टीम के सदस्यों ने 12 घंटे के भीतर ही अपचारी को गिरफ्तार कर लिया। प्रार्थी ने थाना विधानसभा में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि 7 दिसंबर को उसकी 8 वर्षीय नाबालिग पुत्री घर के सामने से बिना बताए कहीं चली गई, जो वापस घर नहीं आई। अज्ञात व्यक्ति द्वारा वैध संरक्षण से बहला फुसलाकर अपहरण करने की आशंका पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना विधानसभा में अपराध दर्ज किया गया था।

बालिका का शव खराब हो गया था


नाबालिक के अपहरण की घटना को पुलिस महानिरीक्षक जिला रायपुर अजय यादव एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर अपराध अभिषेक माहेश्वरी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण कीर्तन राठौर, नगर पुलिस अधीक्षक विधानसभा उदयन बेहार, उप पुलिस अधीक्षक क्राइम दिनेश सिन्हा, थाना प्रभारी विधानसभा संजीव मिश्रा एवं प्रभारी एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट को अपहृत बालिका की जल्द पतासाजी कर दस्तायाब करने निर्देशित किया था। पुलिस टीम को 13 दिसंबर को विवेकानंद गार्डन के सामने सूनसान स्थान में अपहृत नाबालिग बालिका का शव बोरी एवं कागज के गत्ता से ढका मिला। बालिका का शव खराब हो गया था।

अपराध स्वीकार


शव का पीएम कराया गया। पीएम रिपोर्ट में बालिका के साथ दुष्कर्म कर हत्या की बात सामने आई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने घटना को गंभीरता से लेते हुए एक विशेष टीम का गठन कर अज्ञात आरोपी की जल्द पतासाजी कर गिरफ्तार करने निर्देशित किया था, इस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में विशेष टीम के सदस्यों ने संदेहियों से कड़ाई से पूछताछ की। तकनीकी साक्ष्य व स्थानीय आसूचना संकलन से घटना में संलिप्त आरोपी के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई, जिस पर टीम के सदस्यों ने कालोनी में मृत बालिका के ब्लॉक में ही निवासरत विधि के साथ संघर्षरत एक बालक को पकड़कर कड़ाई से पूछताछ की, जिसमें उसने अपराध स्वीकार किया।

सब्जी तोड़ने के बहाने ले जाकर वारदात को दिया अंजाम


पूछताछ में अपचारी बालक ने बताया कि वह आज से लगभग 5 माह पूर्व काॅलोनी में सपरिवार किराए से निवासरत था। उसी काॅलोनी में मृत बालिका भी अपने पिता के साथ निवासरत थी, जिस वजह से अपचारी बालक का मृत बालिका पर बुरी निगाह रखता था एवं ऐसे मौके की तलाश में था। घटना के दिन जब बालिका नीचे खेल रही थी उसी समय अपचारी बालक उसे पास स्थित हाऊसिंग बोर्ड काॅलोनी के पार्क के आसपास फल व सब्जी तोड़ने के बहाने पॉलीथीन लेकर चला गया, जहां वारदात को अंजाम दिया।

अपचारी बालक का पिता भी दुष्कर्म मामले में जा चुका है जेल


आरोपी ने बताया, कुछ समय तक पार्क के आसपास घुमकर रखिया आदि सब्जी तोड़े। इसी दौरान बालक ने उसे अपने साथ शारीरिक संबंध बनाने पूछने पर बालिका ने मना किया, जिससे अपचारी बालक ने उस समय अन्य कोई व्यक्ति नहीं होने से सूनसान होने का फायदा उठाकर बालिका को बाउंड्रीवाल के पीछे झाडियों के बीच ले जाकर बालिका के साथ दुष्कर्म किया और गला दबाकर उसकी हत्या कर शव को कागज के गत्ता, पालीथीन एवं बोरी में ढ़ककर छिपाकर फरार हो गया। अपचारी बालक ने पूछताछ में बताया कि वह अपनी भाभी व चाचा के मोबाइल में पोर्नोग्राफी वीडियो देखा करता था। गौरतलब है कि अपचारी बालक का पिता भी पूर्व में अपनी नाबालिग सगी पुत्री के साथ दुष्कर्म के मामले में 3 वर्ष तक जेल में था, जो 01 माह पूर्व ही जेल से बाहर आया है।

कांग्रेस नेता की हत्या में इस्तेमाल शूटर्स की कार मिली,पुलिस CCTV फुटेज खंगालती रही

error: Content is protected !!