आमरण अनशन पर बैठे संविदा कर्मचारी, नियमितीकरण की मांग को लेकर अन्न और जल को त्यागा

रायपुर 19 जुलाई 2023: प्रदेशभर के संविदा कर्मचारी (Contractual Employees) नियमितीकरण की मांग को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन उनकी नियमितीकरण (regularization) पर सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया है। कर्मचारियों ने हरेली तिहार के दिन गेड़ी चढ़कर जेल भरो आंदोलन किया. उसके बाद अब आंदोलनकारी बड़ी संख्या में आमरण अनशन पर बैठ गए हैं।

नवा रायपुर स्थित तूता मैदान से प्रदेशभर के संविदा कर्मचारी नियमितीकरण की मांग को लेकर बीते 3 जुलाई से आंदोलनरत हैं। वहीं आज से संविदा कर्मचारी अन्न- जल को त्याग करते हुए अनवरत अनशन में बैठ गए हैं। संविदा कर्मचारियों का कहना है कि नियमितीकरण की मांग को गांधीवादी तरीके से सरकार तक पहुंचाएंगे। करो या मरो की स्थिति में संविदा कर्मचारी बिना अन्न, बिना जल ग्रहण किए इस आंदोलन को आगे बढ़ाएंगे। हजारों की संख्या में संविदा कर्मचारी घरना स्थल पर उपस्थित होकर अनशन में बैठे कर्मचारियों का उत्साहवर्धन कर रहे हैं।

बता दें कि मंगलवार को विधानसभा का मानसून सत्र शुरू हुआ। इस दौरान भी संविदा कर्मियों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर विधानसभा की ओर कूच किया था। आंदोलन कर रहे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को लेकर सरकार ने एस्मा लगाया था, लेकिन इसका उनपर ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने एस्मा के आदेश को जलाया और सामूहिक इस्तीफा भी दे दिया। फिलहाल, प्रदेश में संविदा कर्मचारियों का प्रदर्शन लगातार जारी है।

संविदा कर्मचारियों का जेल भरो आंदोलन आज

error: Content is protected !!