BIHAR CHO VACANCY :बिहार में निकली है बहुत सी हेल्थअफसर की वेकेनसी जानिए इनके बारे में

BIHAR CHO VACANCY :बिहार में निकली है बहुत सी हेल्थअफसर की वेकेनसी जानिए इनके बारे में

स्वतंत्र बोल
बिहार  28 जून 2024:
  बिहार स्वास्थ्य विभाग ने हेल्थ सब सेंटर और हेल्थ वेलनेस सेंटरों में 4500 कम्युनिटी हेल्थ अफसर के लिए बहाली निकाली है। इसके लिए बीएससी नर्सिंग BSC NURSING पास अभ्यर्थी 1 से 21 जुलाई तक आवेदन कर सकते हैं। नियुक्ति संविदा (कांट्रेक्ट CONTRACT) के आधार पर होगी। प्रति माह 32 हजार वेतन और 8 हजार रुपये इंसेस्टिव सहित 40 हजार रुपये मिलेंगे।

राज्य स्वास्थ्य समिति की वेबसाइट shs.bihar.gov.in पर आवेदन भरने का ब्योरा उपलब्ध है। इसके पहले इस पद के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति ने 9 मार्च को बहाली निकाली थी पर 12 मार्च को अपरिहार्य कारण बताते हुए इसे रद्द कर दी गई थी। अब जारी बहाली में भी कई वर्गों की रिक्तियों में कोई बदलाव नहीं है। अनारक्षित कोटि में इस बार भी रिक्ति नहीं होने से यह मुद्दा फिर उठ सकता है। हालांकि विभाग के अनुसार रिक्तियां रोस्टर के अनुसार हैं। अनारक्षित कोटि में पहले से सभी पद भरे हुए हैं। ये रिक्तियां बैकलॉग BACKLOG की हैं। इस बहाली में 65आरक्षण का पेच भी है। स्वास्थ्य विभाग सामान्य प्रशासन से निर्देश के अनुसार आगे निर्णय लेगा।

इसके लिए आवेदन करने वालों की न्यूनतम आयु 21 वर्ष YEAR व अधिकतम उम्र AGE सीमा अलग-अलग कोटि के लिए अलग-अलग है। अनारक्षित और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए अधिकतम उम्र 42 वर्ष है। अनारक्षित और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की महिलाओं के लिए 45 वर्ष है। पिछड़ा और अतिपिछड़ा वर्ग की महिला और पुरुष MALE के लिए 45 वर्ष अधिकतम उम्र है। अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम उम्र सीमा 47 वर्ष है। दिव्यांग अभ्यर्थियों को उम्र सीमा में अधिकतम 10 वर्ष की छूट का प्रावधान किया गया है। प्रदेश के 44 हजार से अधिक श्रमिक परिवारों को मिलेगा संबंधित योजनाओं का लाभ, खातों में ट्रांसफर किए जाएंगे 29 करोड़ रुपये से अधिक…

किस कोटि में कितने पद
अत्यंत पिछड़ा वर्ग 1345
अत्यंत पिछड़ा वर्ग महिला 331
पिछड़ा वर्ग 702
पिछड़ा वर्ग महिला 259
एससी 1279
एससी महिला 230
एसटी 95
एसटी महिला 36
आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग 145
आर्थिक रूप से कमजोर महिला 78

स्वास्थ्य विभाग के 45 हजार पदों पर बहाली में पेच
स्वास्थ्य विभाग ने नर्स सहित 45 हजार पदों पर इसी साल अक्टूबर तक बहाली पूरा करने का लक्ष्य रखा था। लेकिन अब नियुक्ति में देरी की आशंका है। पिछले दिनों हाईकोर्ट ने बिहार में आरक्षण सीमा 50 से बढ़ाकर 65 प्रतिशत करने के फैसले पर रोक लगा दी। ऐसे में जब तक सामान्य प्रशासन विभाग से इस मामले में स्पष्ट गाइडलाइन जारी नहीं होगा, तक तक नियुक्ति में पेच फंसा ही रहेगा। इस कारण अभ्यर्थियों को अभी और इंजतार करना होगा।

वैकेंसी को लेकर दुविधा की स्थिति यह है कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण सहित कुल 75 प्रतिशत की दर से आरक्षण लागू होगा या फिर पुराने हिसाब से। जब तक आरक्षण प्रतिशत फाइनल नहीं होगा, तब तक रिक्ति रोस्टर कि हिसाब से तैयार नहीं हो सकेगा। चिकित्सक, दंत चिकित्सक, नर्स, एएनएम, जीएनएम, सीएचओ और पारा मेडिकल सहित स्वास्थ्य विभाग से जुड़े रिक्त पदों पर नियुक्ति के लिए विभाग ने कार्रवाई तेज की थी। विभाग ने सभी जिलों में रिक्ति आरक्षण रोस्टर के हिसाब से मांगा था। स्वास्थ्य विभाग और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत 1339 सहायक प्राध्यापक नियुक्त होने हैं। 3523 विशेषज्ञ चिकित्सा पदाधिकारी, 396

सामान्य चिकित्सा पदाधिकारी नियुक्त होने हैं। संविदा के आधार पर 1290 सामान्य चिकित्सा पदाधिकारियों भी नियुक्ति होनी है।

पदों का ब्योरा VACANCY DETAILS:
सहायक प्राध्यापक 1339

विशेषज्ञ चिकित्सा पदाधिकारी 3523

सामान्य चिकित्सा पदाधिकारी 396

सामान्य चिकित्सा पदाधिकारी (संविदा) 1290

दंत चिकित्सक 64

सिस्टर ट्यूटर 362

नर्स 6298

एएनएम 15089

फार्मासिस्ट 3637

एक्स रे तकनीशियन 803

ओटी असिस्टेंट 1326

ईसीजी तकनीशियन 163

लैब तकनीशियन 3080

ड्रेसर 1562

सीएचओ (संविदा) 4500

error: Content is protected !!