विधानसभा: इंग्लिश में बोले MLA तो स्पीकर ने दिखाए तेवर

रायपुर 17 मार्च 2023: विधानसभा के बजट सत्र की कार्यवाही जारी है। कांग्रेस विधायक अमितेश शुक्ल ने अपनी ही सरकार के मंत्री अमरजीत भगत को घेरा। कहा कि गरियाबंद और देवभोग में चना सप्लाई में बड़ी गड़बड़ी हुई है । वो अंग्रेजी में बात कर रहे थे। इस दौरान चरणदास महंत के तीखे तेवर देखने को मिले।

विधानसभा अध्यक्ष ने कह दिया कि अंग्रेजी में बात न करें। सदन में इंग्लिश में बात करने को लेकर मजाकिया माहौल भी बना। महंत ने साफ कह दिया कि यहां बहुत से लोग अंग्रेजी नहीं समझते ये आपकी व्यक्तिगत चर्चा नहीं है।

ये हुआ सदन में

अमितेश शुक्ल- खाद्य सामग्री के सप्लाई का प्रावधान अंग्रेजी में पढ़ने लगे।
कुलदीप जुनेजा- मंत्री जी समझ रहे हैं बाकि लोग नहीं समझ पाएंगे।
अमितेश शुक्ल- मंत्री को काफी ज्ञान है आप चिंता न करें
चरणदास महंत- बहुत सारे लोग हैं जो अंग्रेजी नहीं समझते तो उनके लिए आप हिंदी में पूछ लें।
अजय चंद्राकर- राज्यपाल के अभिभाषण में लखमा टेबल थपथपा रहे थे।
शिवकुमार डहरिया- वो तो अभिभाषण को पढ़ रहे थे पलटाकर, लखमा जितना ज्ञान आपको नहीं है।
चरणदास महंत- अमितेश शुक्ल से कहा, जो सदन में चर्चा है आपकी व्यक्तिगत चर्चा नहीं है, पूरे प्रदेश की चर्चा है। आपके भाषण का छत्तीसगढ़ में प्रचार प्रसार होता है।

अमितेश शुक्ल – नहीं बोलता अंग्रेजी में आप कहते हैं तो, पैकेजिंग में घपला हुआ है, एक ही माल को गरियाबंद में फेल किया गया देवभोग में पास कर दिया गया। अमरजीत भगत – अंग्रेजी में मुस्कुराकर बोले- इज यू हैव मेड ए स्पेसिफाई कंप्लेंट कैन यू टेल द डिटेल्स टू मी… कोई भी आपके पास लिखित दस्तावेज हो कंप्लेन हो तो आप प्रस्तुत करें मैं उस पर जरूर जवाब दूंगा। हमारे पास शिकायत आई हमने खराब माल को रिजेक्ट कर दिया था।

अमितेश शुक्ल- मंत्री जी को अधिकारी सही जानकारी नहीं देते हैं। बलौदा बाजार में सप्लायर को दोबारा काम दिया गया। यह भ्रष्टाचार नहीं तो और क्या है । इसकी सही तरीके से जांच करा लें। जांच कराकर समय सीमा पर जनप्रतिनिधियों को सूचित करें।

अमरजीत भगत- सदस्य समझदार है मंत्री भी रहे हैं। इनको जानकारी है। एक सतत प्रक्रिया है यदि कोई सामान सप्लाई से आ रहा है उसकी गुणवत्ता की परीक्षण हम करते हैं। अगर गुणवत्ता नहीं हुआ तो हम वहीं से रिजेक्ट कर देते हैं। अमितेश शुक्ल- आपके चने को गरियाबंद में फेल कर दिया गया। वहीं आपके ही अधिकारियों ने उसी चने को देवभोग में पास कर दिया तो यह घपला हो रहा है।

बुधवार को भी दिखे थे महंत के सख्त तेवर

रोजगार के आंकड़ों और सर्वे की संस्था की मान्यता को लेकर सदन में बवाल हुआ। अजय चंद्राकर का सवाल – जब संस्था को मान्यता नहीं है तो उस संस्था के आंकड़ों पर विज्ञापन क्यों दिया गया? CMII को 2 करोड़ का विज्ञापन देने का आरोप अजय चंद्राकर ने लगाया। इस पर रोजगार के मसले को विधानसभा अध्यक्ष ने गंभीर बताया। सत्तापक्ष द्वारा टोका-टाकी पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा जो सवाल मुझे गंभीर लगेगा उसे मैं जितने समय तक चाहूं चर्चा कराऊंगा।

चावल चोरी की बात पर हुआ खूब बवाल

600 करोड़ के चावल स्टॉक में गड़बड़ी का आरोप डॉ रमन सिंह ने लगाया। इसके बाद सदन में भाजपा कांग्रेस के विधायकों के बीच काफी हंगामा हुआ। 10 मिनट के भीतर दो बार सदन की कार्यवाही रोकनी पड़ी।

रमन सिंह- पूर्ववर्ती सरकार के बने नियम का का पालन होता तो ब्लंडर नहीं होता । 600 करोड़ का घोटाला साबित होता है। 450 दुकानदार जिसकेपास 100 क्विंटल रखने का स्टॉक नहीं।

अमतर जीत भगत- आज भारत सरकार सेल्फ डिक्लिएरेशन को नहीं मानती दुकानों का कंप्यूटिरीकरण हो गया है। 13 हजार 473 दुकानों में डिजिटल निगरानी है। आज 96 प्रतिशत लोगों का बायोमेट्रिक प्रमाण के साथ वितरण किया जा रहा है।

बड़ी संख्या में भाजपाई करेंगे विधानसभा घेराव

error: Content is protected !!