महिला मड़ई का लेखा जोखा: बाइक रैली में खर्चे साढ़े चौदह लाख, तो महिला सम्मेलन में फूंके 60 लाख.. छह दिन के आयोजन में खर्चे पौने तीन करोड़।

“स्वतंत्र बोल”
रायपुर 25 जून 2023.  महिला मड़ई के आयोजन में अधिकारियो ने जमकर सरकारी राशि खर्च की। छह दिन के आयोजन में अफसरों ने पौने तीन करोड़ रुपये फूंक दिए, अब गड़बड़ी पर जिम्मेदारों ने चुप्पी साध रखी है। महिला मड़ई के छह दिनों का आयोजन था जिसमे शुरुआत में बाइक रैली, महिला सम्मेलन और महिला सुरक्षा एवं पोषण जागरूकता कार्यशाला किया गया। सभी कार्यो का जिम्मा मेसर्स व्यापक इंटरप्राइजेस को दिया गया था, जिसमे जमकर भर्राशाही की गई।

चौपाल चर्चा: समरथ को नहीं दोष गुसाई, निर्भय एसडीएम और तिवारी की छुट्टी.. स्वतंत्र बोल का साप्ताहिक कॉलम।

दस्तावेजों के अनुसार तीन किलोमीटर की बाइक रैली पर विभागीय अफसरो ने चौदह लाख रुपये खर्च किये। रैली बीटीआई ग्राउंड शंकर नगर से निकली थी जो मुख्य चौक चौराहे से घूमकर वापस आयोजन स्थल पहुंची थी। तो एक दिवसीय महिला सुरक्षा एवं पोषण जागरूकता कार्यशाला पर पौने सत्रह लाख रुपये खर्च किये, जबकि यह आयोजन भी महिला मड़ई के लिए बने मंच पर हुआ था। दीनदयाल उपाध्याय ऑडोटोरियम में हुए एकदिवसीय राज्यस्तरीय महिला सम्मेलन के नाम पर 60 रुपये खर्चे गए, तो पचास हजार के ट्री पॉट और पौधे ख़रीदे गए। आयोजन में सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति देने वाले कलाकारों के भुगतान का एक चौथाई हिस्सा (74000 रुपये) उनके सहयोगियों के चाय नाश्ते पर खर्च किया गया।

परियोजना में रेवड़ी की तरह बांटे पैसे
आयोजन में सरकारी धन का खुले तौर पर बंदरबांट किया गया। जिला कार्यालय से राजधानी के सभी 8 परियोजना अधिकारियो को साढ़े पांच लाख रुपये बांटे गए जिसमे रायपुर शहरी और ग्रामीण को 40-40 हजार, अभनपुर,आरंग,तिल्दा,मंदिर हसौद और धरसींवा एक एवं दो को 80-80 हजार रुपये जारी किया गया था।

EXCLUSIVE महिला मड़ई में घोटाला: बिना टेंडर प्रक्रिया के चहेते फर्म को दिया करोडो काम.. भंडार क्रय नियमो का उल्लंघन।

error: Content is protected !!